Horror Story In Hindi

Horror Story In Hindi ट्रिप टू खंडाला Scary Ghost Stories blog Bhooton Darawni Kahaniya Hindi Main

Horror Story In Hindi: I Am Sharing the latest Horror Story In Hindi This is interesting Story available on the internet. Kindly comment after reading how much you like It. आप पढ़ रहे है. ट्रिप टू खंडाला हॉरर स्टोरी ये एक एसी कहनी जिसमे आपको सचमे डर का एहसास होगा  मेरे ब्लॉग पर और  भी दिलचस्प और डरावनी Horror Story In Hindi जरुर पढ़े

ट्रिप टू खंडाला Horror Story In Hindi

मै और मेरी पत्नी 6 महीने बाद ब्रेक लेके बाहर घुमने निकले थे. हम दोनों पेशे से डॉक्टर है. हॉस्पिटल से छुट्टियाँ लिए हुए बहुत दिन हुए थे. सचमे उस दिन मेरी पत्नी राधिका बहुत खुश थी. छुट्टियाँ बिताने के लिए मैंने खंडाला घाटी के एक गाँव में पूरा फार्महाउस बुक किया था.

जहाँ सिर्फ़ मैं और मेरी पत्नी एक साथ वक़्त बिता सके और इस हसीन ज़िन्दगी में कुछ खुबसूरत यादें बना सके. हम मुंबई से श्याम 4 बजे निकले थे. मुंबई से खंडाला हाईवे पर पुराने नगमे गुनगुनाते हुए. दोनों बड़ी खुशीसे फार्म हाउस पर छुट्टियों में क्या-क्या करेंगे प्लान कर रहे थे.

फार्म हाउस घाटी के निचे वाले गाँव में था. इसलिए हमें एक जंगल वाले इलाखे से जाना पड़ा था. फिर वह मोड़ आया जहाँ पर हमें हमारी ज़िन्दगी की सबेसे भयानक् और रूह तक काँप ने वाली यादे मिलने वाली थी. मोड़ पर मैंने पानी पिने के लिये गाड़ी रोकी वहा एक बोर्ड लिखा हुआ था.

कोठारी फार्महाउस 25 कीलो मीटर आगे है. वही थी हमारी मंज़िल मैंने राधिका को बोर्ड दिखया वह बोली ये क्या आलोक तुमने कोंनसे जंगल में व्हेकेशन प्लान किया है. अभी और 25 किलोमीटर गाड़ी चलानी होगी. मुझे भूक भी लगी है.

मैंने कहा सब्र रखो मेरी जान फार्म हाउस तुम्हारे लिए कोई रलवे स्टेशन के बाजु में नहीं बनाएगा. फिर हम दोनों गाडी में बैठे तभी हमें सामने से एक बीडी पीती हुई अधेड़ उम्र की औरत आति हुई दिखाई दी. वह हमारी तरफ़ ही देख रही थी. एक अजीब-सी शैतानी मुस्कान उसके चेहरे पर थी. मानो की उसे जो चहिये वह मिलगया हो.

Click here to Read more Darawni Kahaniya

  • इस कहानी की पहली प्रेतात्मा Horror Story In Hindi
Horror Story In Hindi
Horror Story In Hindi

राधिका मजाक-मजाक में बोली देखो तुम्हारी पुणे वाली काकी कैसे बीडी पिरही है. मैंने कहा मेरी नहीं वह तुम्हारी काकी है. मुम्बई वाली जो चुप चुपके घरके दरवाजे बंद करके सिगरेट पीती है. हम दोनों एक साथ हस पड़े.

गाड़ी बहुत आगे आचुकी थी. अचानक वह बीडी वाली औरत फिर दिखी. राधिका बोली आलोक देखो वह बीडी वाली औरत इतनी जल्दी हमारे आगे कैसे पहुँच गई. मैं बोला कि कोई दूसरी औरत होगी और गाड़ी चलता रहा. . पर मेरी आंखे तब फटी की फटी रह गई जब तिसरी बार हम दोनों ने उसी औरत को सामने से आते देखा.

ट्रिप टू खंडाला Horror Story In Hindi

मैंने अर्जेंट ब्रेक लगाके गाड़ी रोकी. और हम दोनों गाड़ी से बाहर निकले और देखा कि हम उसी मोड़ पर थे. जंहा से शुरू किया था. लगा कि हम कही गए ही नहीं . गाड़ी उसी मोड़ पर ही खड़ी थी. और जब हम उस औरत की तरफ़ मुडे तो वह वहा नहीं थी. थी तो जमींन पर आधी जलती हुई बीडी राधिका तो भूत-भूत कहके डर के मरे कंप कंपा ने लगी.

मुझे भी अचानक ठंड महसूस होने लगी. हम दोनों जल्दी से गाड़ी मैं बैठे. मैंने महसूस किया कुछ मुसीबत आने वाली है. और अभी यंहा से जल्दी निकलना होगा. क्योंकि रात हो रही थी. मैंने गाड़ी U टर्न मारके पीछेकी ओर भगाई.

पर कहते है ना मुसीबत जब भी अति है. तब जल्दी पीछा नहीं छोडती. मै तेजी से गाड़ी भगा रहा था. राधिका अभी भी सदमे में थी. तभी अचानक हमारी गाड़ी बंद पड़ गई. मैं कार से बाहर निकला. और बोनेट खोलके चेक करने लगा. बहुत कोशिस करने पर भी गाड़ी स्टार्ट नहीं हो रही थी.

  • गाड़ी बंद क्यों पड़ी

मैंने मोबाइल से मदत बुलानी चाही पर ना मेरे मोबाइल में सिग्नल था न राधिका के. में मदत तलाश रहा था कोई आदमी या कार मिल जाए. तब कट सूरज ढल चूका था और वहा पर लालटेन हात में लिए एक बुढा आदमी आया. मैंने उनसे पूछा बाबा आपके पास मोबाइल है. मुझे एक कॉल करनी है. हमारी गाड़ी खराब होगई है.

हमे मदत बुलानी थी. बाबा बोले बेटा मेरे पास तो कोई मोबाइल नहीं पर मेरा घर यही पास में ही है. चाहोतो तुम वहा चलके मेरे लैंडलाइन से फ़ोन करलो. मेरे पास भी कोई पर्याय नहीं थी फिर मैं और राधिका पैदल ही बाबा के पीछे-पीछे चल दिए.

  • कहनी में ट्विस्ट  Horror Story In Hindi
Horror Story In Hindi
Horror Story In Hindi

झड़ियो के तेडे मेढे रास्तो से लालटेन की टिम टिमाती रौशनी में कुछ 10 मिनिट में हम उनके घर पहुँच गए. राधिका मेरे कान में धीरे से बोली ये घर नहीं कोई पुराणी हवेली जैसा लग रहा है. मैंने कहा तुम्हे तो पसंद है न पुराने घर और भूतो वाली कहानी. अभी भी ये लो दोनों एक साथ मिल गये. वो मेरी तरफ़ गुस्से से देखने लगी. मै चुप हो गया.

Click Here to Read Most Scary Horror Story In Hindi

  • भूतबंगले में प्रवेश किया  #Horror Story In Hindi

बाबा ने घर का दरवाज़ा खोला और हम तीनो अंदर गए. अंदर घुप अँधेरा था बाबा बोले अरे बेटा लगता है. लाइट चली गई है. फोन सामने वाले कमरे में है. तुम वहा जाके थोड़ी देर रुको लाइट आते ही फ़ोन चालू हो जाएगा. फिर तुम जिसे चाहे कॉल करलेना.

हमारे पास भी रुकने के अलावा और कोई चारा नहीं था. मै और राधिका उस कमरे में चले गए. और फ़ोन के पास बैठ के लाइट आने का इंतज़ार करने लगे. आधा घंटा हुआ लाइट आ नहीं रही थी. मैंने राधिका के हैण्ड बैग में से छोटी टोर्च लाइट निकली. और कमरे से बाहर निकल के बाबा को ढूँढने लगा.

  • कहानी का सबसे भयानक मंजर

मैंने बाबा को आवाज़ दी पर उन्होंने कोई रिप्लाई नहीं दिया. मैंने सोचा शायद घर के बाहर बैठे होंगे. ऐसा सोचके मैं दरवाजे की तरफ़ बढ़ने लगा. और उसी वक़्त टोर्च का फोकस दरवाजे के ऊपर टंगी एक बड़ी-सी तस्वीर पर गया और तस्वीर देखके डर से मेरी आंखे फटी की फटी रह गई.

मैंने ज़ोर से आवाज़ देके राधिका को बुलाया. और उसे भी वह तस्वीर दिखाई. तस्वीर देखके उसकी आवाज़ गले में ही अटक गई. वो तस्विर थी उस बूढ़े बाबा कि जिसने हमें उस घर में लाया था. उस तस्वीर पर चढ़ा हुआ फूल का हार सुख चूका था. बस धागा और कुछ सूखे फूल बाकि थे. और उस तस्वीर पर तारिख 23 साल पुराणी थी. उस बूढ़े को मरके तेबिस साल बीत चुके थे.

हम दोनों तुरंत घर से बाहर निकलने के लिए दरवाजे की ओर भागे. जैसे ही हम दरवाजे के पास पहुचने वाले थे. दरवाज़ा हमारे सामने एक झटके में बंद हो गया. मैंने दरवाज़ा खोलने में पुरी ताकत लगा दी थी. पर सब बेकार और हम उस भतहा घर मैं क़ैद होगए.

ट्रिप टू खंडाला  #Interesting Hindi Stories

राधिका मेरे सिने से बिलागके रोने लगी. डर से मेरी दिल की धडकने तेज हो गई थी. पर बुरा होना अभी भी बाकि था. घर की सारी खिड़कियाँ एक-एक करके बंद हो रही थी. जैसे की कोई उन्हें अपने हातो से बंद कर रहा हो. वह ख़ौफ़नाक मंजर देखकर हम दोनों की हालत ऐसी हो गई थी की काँटों तो हमरे बदन में खून नहीं.

Horror Story In Hindi
Horror Story In Hindi
  • इस कहनी का अंत  क्या हुआ जाने  #Horror Story In Hindi Blog

राधिका और मैं दरवाजे के पास थर-थर कापंते ज़मीन पर बैठ गए. हमारी टोर्च की चर्गिग भी ख़त्म हो रही थी. शायद वहा जो कोई भी था वह भी टोर्च खतम होने काही इंतज़ार कर रहा था. सामने रखी आराम कुर्सी धिरे-धिरे हिल रही थी.

जैसे की उसमे कोई बैठा हो. हमारी निगाहे भी उसी कुर्सी पर थी. अब कमरे में सिर्फ़ 2 लोगों के सांसो के चलने की आवाज़ थी एक मेरी और एक राधीकाकी थोड़ी ही देर में हमारी टौर्च बंद हो गई. और कमरे में नरक का अँधेरा छा गया था. और फिर मुझे राधिका कि आवाज़ आयी. ऊठो आलोक उठो जल्दी उठो फार्म हाउस आगया. मेरी आँख खुली तब मैं कार की पिछली सिट पर सो रहाथा. और तब पता चला कि सब एक भयानक सपना था. तो दोस्तों कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताना आपको ये कैसी लगी. और आपको कोनसी पढना पसंद है? कमेंट कीजिये.

तो मेरे दोस्तों आपको ये Horror Story In Hindi कैसी लगी कमेन्ट बॉक्स में जरुर बताये.

हमारी और भी बेहतरीन कहानिया

Hindi Ghost web series A

Hindi Ghost web series B

Read More Horror Stories In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *