उल्लू के बारे में १०० जानकारियां | Information About Owl In Hindi | Ullu ki jankari

उल्लू के बारे में १०० जानकारियां | Information about owl in hindi

1. भारत में उल्लू की ३६ प्रजातियाँ पायी जाती है, इन सभी प्रजातियों को वन्यजीव संरक्षण अधिनियम १९७२ के तहत संरक्षित रखा गया है. भारत में उल्लुओं का अवैध शिकार, व्यापार या किसी अन्य प्रकार का शोषण एक दंडनीय अपराध है.

2. क्या आप जानते है? उल्लओं में Barn owl एक ऐसी प्रजाति है, जो दुनियाभर में हर जगह पायी जाती है. इसकी एक तस्वीर निचे दे रहे है.

owl in hindi
Barn Owl

3. उल्लू प्राचीन समय से ही लोकप्रिय रहे है, इनकी तस्वीरे मिस्र की चित्रलिपियों में और फ्रांस की ३०,००० साल पुरानी गुफाओं में आज भी दिखाई देती है.

4. न्यूजीलैंड में हंसता हुआ उल्लू यानकी The laughing owl नामकी एक दुर्लभ प्रजाति मौजूद थी, जिसे सफेद मुंह वाला उल्लू भी कहा जाता है.

यह भी पढे – हरियल पक्षी की सम्पूर्ण जानकारी एवं रोचक तथ्य

5. Laughing owls बिल्लियाँ, चूहे, और नेवों जैसे अन्य जानवरों के शिकार हो गए और लगभग १९०४ तक विलुप्त हो गए.

6. क्या आप जानते है? नाइटजर (Nightjar) पक्षी को उल्लू का सबसे करीबी रिश्तेदार माना जाता है, आपकी सुविधा के लिए नाइटजर पक्षी की एक तस्वीर निचे दे रहे है.

owl information in hindi

7. “Ornimegalonyx” यह इतिहास में दर्ज किया गया सबसे बडा उल्लू था, जो की विलुप्त हो चूका है, इसकी ऊंचाई लगभग 1.1 metre थी.

8. उल्लुओं का जीवाश्म इतिहास ६० मिलियन वर्ष पूर्व पेलियोसीन युग की शुरुआत का है, खोज में यह भी पता चला है की शुरुआती उल्लू आज के आधुनिक उल्लुओं की तुलना अधिक बड़े आकार के थे.

9. खुदाई के दौरान उल्लू की कुछ विलुप्त प्रजातियों के जीवाश्म अवशेष भी मिले है, जैसे की “Terrestrial Sophiornithidae”.

10. पेलियोसीन जेनेरा बेरुओर्निस और ओगीगोप्टीनक्स इन दो पक्षियों के मिले हुए जीवाश्म अवशेषों से हमे पता चलता है की लगभग 60 मिलियन वर्ष पहले से ही उल्लू एक भिन्न वंश के रूप में मौजूद थे. (owl in hindi )

यह भी पढे – शुतुरमुर्ग के बारे में रोचक तथ्य एवं सम्पूर्ण जानकारी

11. क्या आप जानते है? Owls अपने खाने का (शिकार का) स्टॉक भी रखते है, जिसे Caching कहा जाता है, ऐसा वे तब करते है, जब शिकार की उपलब्धता अधिक मात्र होती है. उल्लू अपने शिकार को पेड़ों के छेद में, या चट्टानों के पीछे छुपाकर रखते है, यह स्टॉक एक या दो दिन का हो सकता है.

12. किसी क्षेत्र में उल्लुओं की जनसंख्या शिकार की उपलब्धता के बजाय रहने और अंडे देने के लिए सुरक्षित स्थान पर निर्भर करती है.

13. आधुनिक जापान में उल्लुओं को अच्छे भाग्य की निशानी माना जाता है, वहां के कई लोग इन्हें अपने घरों में पालना बहुत पसंद करते है.

14. मंगोलिया देश के लोगों के जेहन में उल्लू की एक अलग ही छवि बसी है, वहापर इस रहस्यमय पक्षी को सौम्य शगुन माना जाता है.

यह भी पढे – गौरैया के बारे में 100 रोचक तथ्य

15. ऑस्ट्रेलिया में रहनेवाले Wardaman जनजाति के लोगों की धारणा है की “Gordol” नाम के एक उल्लू ने ही इस दुनिया का निर्माण किया है, इसलिए वहां के लोग उल्लू को भगवान मानते है.

16. Owls की कुछ प्रजातियों का रंगरूप पेड़ की छाल, धारियों, सलाखों पत्तों और बर्फ से मेल खाता है, परिणामस्वरूप पेड़ पर या झड़ियों में बैठे हुए उल्लू अपने शिकार के सामने अदृश्य प्रतीत होते हैं. उदाहरण के लिए आप Small screech owl की तस्वीर निचे देख सकते है.

Small screech owl

17. क्या आप जानते है? Burrowing Owls रहने के लिए, बड़े चूहे के बिल का उपयोग करते है. संबंधित तस्वीर निचे देख सकते है.

Burrowing Owl
Burrowing Owl

18. उल्लओं की प्रजाति में Female barn owl सबसे अधिक अंडे दे सकती है, इसकी संख्या १० तक भी हो सकती है.

19. उल्लू पक्षियों के जोडे (couples) अपने साथी को खुश करने के लिए, अपनी चोंच एक दुसरे के चहरे पर एवं सिर पर रगड़ते है, इस विशेष क्रिया को Preening कहा जाता है.

20. Owl की अधिकतम प्रजातियां निशाचर होती है, जो रात के समय शिकार करती है, लेकिन Pygmy owl जैसी कुछ प्रजाति ऐसी भी होती है, जो श्याम और भोर सुबह-सवेरे शिकार पर निकलती है.

 Interesting information about owl in hindi

21. Burrowing owl और The short-eared owl यह दो उल्लू प्रजातीया भी सुबह के समय शिकार करने में सक्रीय होती है.

22. यह आपको जरुर पता होना चाहिए, बहुत से लोगो में फैले हुए एक मिथक अनुसार उल्लू अपने सिर को 360 डिग्री घुमा सकता है, जब कि वास्तव में उल्लू अपनी गर्दन को दोनों दिशा में (दाएं और बाएं) १३५ -१३५ डिग्री तक घुमा सकते हैं, इस तरह वे अपने सिर को कुल मिलाकर २७० डिग्री घुमा सकते है.

23. आपने उल्लू की आवाज तो सुनिही होगी, उसे हूटिंग कहा जाता है. हालाँकि, उल्लू की सभी प्रजातियां सिर्फ हूटिंग ही नहीं करती, कुछ प्रजातियाँ ऐसी भी होती है, जो सीटी बजाना, गुर्राना, फुफकारना, यहां तक कि भौंकने की आवाज भी निर्माण करती है.

24. Owl दूरदर्शी होते हैं. हालाँकि, इन्हें नजदीक की चीजे धुंधली-धुंधली दिखाई देती है लेकिन इनकी चोंच और पैरों पर जो पंख होते है, उनकी मदत से ये अपने आस-पास मंडरा रहे शिकार को महसूस कर सकते है.

25. उल्लू की आवाज सुनने की शक्ति काफी तेज होती है, वह पत्तियां, पौधे, गंदगी और बर्फ के निचे छुपे हुए अपने शिकार की सूक्ष्म आवाज को भी सुनने में सक्षम होते है. ( about owl in hindi )

26. Northern hawk owl के सुनने की क्षमता अदभुत होती है, वह बर्फ के 12 इंच नीचे छुपे हुए शिकार की आवाज को भी साफ-साफ सुन सकता है.

27. क्या आपने गौर किया है? उल्लू की आंखें काफी चौड़ी दिखती हैं, असल में उल्लुओं की आँखों में अन्य पशु की तरह नेत्रगोलक (eyeballs) नहीं होते हैं.

28. गोलाकार नेत्रगोलक के बजाय उल्लू की आंखों में नलियां होती हैं, जो उनकी खोपड़ी में बहुत पीछे तक जाती हैं, इसी वजह से उनकी आंखें (नजर) एक ही जगह पर टिकी रहती हैं और उन्हें आस-पास की चीजे देखने के लिए, अपना सिर घुमाना पड़ता है.

29. आपको यह जानकर हैरानी होगी की उल्लू की आंखों पर 3 पलकें होती हैं, एक पलक झपकने के लिए, एक सोने (नींद) के लिए और तीसरी अपनी आंखों को धुल मिटटी से बचाने के लिए.

30. owl की कुछ प्रजातियों के कान विषम स्तिथि में होते है, अर्थात दोनों कान ऊपर निचे, या एक कान सिर के थोडासा पीछे स्थित होता है और इनके आंतरिक या बाहरी कर्ण (कान) भी हो सकते हैं.

31. उल्लू के विषम स्थिति वाले कान शिकार की धीमी आवाज से भी, उसके सटीक स्थान का पता लगाने में मददगार साबित होते है.

32. उल्लू का सपाट एवं डिस्क की तरह चेहरा, उसे किसी भी आवाज पर ध्यान केंद्रीत करने के लिए मदत करता है.

33. उल्लू की कई प्रजातिया विशिष्ट रूप से कम आवृत्ति (frequency) में ध्वनी का निर्माण करती है, जिस वजह से उनकी आवाज पेड़ या किसी और चीज द्वारा अवशोषित (absorbed) किए बिना काफी लंबी दूरी तक पहुचं सकती है.

34. आमतौर पर उल्लू जमीन से कम ऊंचाई पर उड़ते हुए शिकार करते है, ताकि वह शिकार को आसानी से देख व सुन सके.

35. उल्लू रात के वक्त उडान भरने और शिकार खोजने के लिए, चमगादड़ की तरह इकोलोकेशन का इस्तमाल नहीं करते, वे सिर्फ अपनी आंखे, कान एवं महसूस करने की क्षमता पर ही निर्भर होते है.

36. उल्लू अपनी ध्वनियों (आवाज) का उपयोग आपस में संपर्क करने के अलावा, अन्य कार्यों के लिए भी करते है, जैसे की नर उल्लू ध्वनियों का इस्तेमाल प्रजनन के मौसम मादा को आकर्षित करने के लिए एवं अन्य उल्लुओं को अपने क्षेत्र से दूर रखने के लिए भी करते है.

37. उल्लू की ध्वनियाँ पक्षी वैज्ञानिकों को इनकी प्रजातियाँ पहचानने एवं उनका अध्यन करने के काम आती है, लेकिन कई बार इसी ध्वनी की वजह से बहुतसे इंसानी शिकारी भी उल्लू निकट पहुंच जाते है.

38. भारत एवं अमरीका में चूहे की आबादी को नियंत्रित करने के लिए, उनके नजदीकी क्षेत्र में उल्लुओं के लिए घर बनाते है, ताकि उल्लू आकर उसमे बस जाये और क्षेत्र में मौजूद चूहों की आबादी को कम कर दे. इस तरीके का इस्तेमाल ज्यादातर किसान करते है. यह तरकीब उल्लुओं की आबादी को बढ़ाने में कारगर साबित हो रही है. (ullu ke bare mein jankari)

39. उल्लओं में Great Horned owl की आँखों का वजन 25.7 Grams होता है, जो की एक लगभग एक छोटी Golf ball के वजन सामान होता है.

40. Great Horned owl के पंजो की पकड में ३०० पौंड वजन जितनी ताकत होती है, ये लगभग एक बलवान इंसान के मुंह से काटने के बराबर होती है.

100 Interesting facts about owl in hindi | Ullu ki jankari

41. हिंदू देवी लक्ष्मी के पास वाहन के रूप दिखनेवाला उल्लू “White Barn Owl” के समान दीखता है.

42. उल्लू धन, समृद्धि, ज्ञान और सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है, क्योंकि भारत के कुछ पौराणिक ग्रंथ और कथाएं हमे बताती है की उल्लू लक्ष्मी देवी का वाहन है, यह आख्यायिका विशेष रूप से भारत के पूर्वी क्षेत्र में प्रसिद्ध है.

43. अधिकांश उल्लू अपने पैरों का इस्तेमाल केवल शिकार को पकड़ने के लिए करते हैं. हालांकि, जमीन पर रहने वाले Burrowing owls तेजी से दौड़ भी सकते हैं.

Burrowing owl
Running Burrowing owl

44. क्या आप जानते है? उल्लू अपने शिकार को पूरी तरह से निगलते है, और बाद में अपचनीय सामग्री जैसे पंख और हड्डियां बाहर उगलते (उलटी) है, जो एक गोली की तरह दिखती है

45. अमरीका में स्थित अपाचे और सेमिनोल जनजाती के नागरिकों के कथन अनुसार उल्लू की हूटिंग सुनाई देना bogeyman (बच्चों को डराने वाला आदमी) के आने की निशानी होती है, इस तरह की कहानियां वहां पर छोटे बच्चों को रातमे जल्दी सोने एवं रोना बंद करने के लिए सुनाई जाती है.

46. उल्लू एक ऐसा पक्षी है, जो हर तरह के पारिस्थितिकी तंत्र (ecosystem) में अपने आप को जीवित रख सकते है. ये पक्षी अंटार्टिका छोडकर दुनिया के हर एक हिस्से में बसते है.

47. विज्ञान को आज तक उल्लू की मौजूदा २५० प्रजातियां ज्ञात है, जिनको वैज्ञानिकों ने दो परिवारों में विभाजित कर दिया है. (owl information in hindi)
पहली : True owls or typical owls family (Strigidae)
दूसरी : Barn-owls family (Tytonidae).

48. Barn Owls Tytonidae परिवार से होते है, जिनके चेहरे दिल के आकार के होते है और Strigidae परिवार के चेहरे गोल आकार होते है. दोनों उल्लू परिवारों की संबधित तस्वीरे निचे दी गई है.

Owl in hindi
Heart shaped face barn owl.
Snowy Owl
Round-shaped Snowy Owl

49. दुनिया का सबसे छोटे आकार की उल्लू प्रजाति elf owl है, जिसकी ऊंचाई ५ से ६ इंचेस होती है और दुनिया का सबसे बड़े आकार की उल्लू प्रजाति नाम Blakiston’s fish owl है, जिसकी ऊंचाई २ फीट औंर पंखो का फैलाव ६ फीट लंबा होता है. दोनों उल्लू प्रजाति की तस्वीर निचे दी गई है.

elf owl
Smallest elf owl
Blakiston’s fish owl
Biggest owl Blakiston’s fish owl

50. अधिकतम उल्लू छोटे स्तनधारी जिव, कीडे और अन्य पक्षियों का शिकार करके अपना पेट भरते हैं. हालाँकि, इनकी कुछ प्रजातियाँ मछलियों का शिकार करने में माहिर होती हैं, जैसे की Blakiston’s fish owl.

51. Owl के अंडे लगभग गोलाकार आकार के और सफेद रंग के होते है, इनकी सामान्य संख्या ३ और ४ से लेकर यह कुछ दर्जन तक भी हो सकती है. अंडो की संख्या उल्लू की प्रजातियां और मौसम की अनुकूलता पर निर्भर करती है.

52. एक उल्लू का परिवार बच्चे पैदा करने के मौसम (प्रजनन का मौसम) में ३००० से भी ज्यादा चूहे खा सकता है.

53. उल्लू का आकार लगभग किसी बाज के समान होता है, इनकी लंबाई लगभग १३ से ७० सेंटीमीटर (५-२८ इंच) और पंखों का फैलाव ०.३-२.० मीटर तक हो सकता है.

54. क्या आप जानते है? उत्तर अमेरिकी नर Screech Owls मादा को आकर्षित करने एवं अपनी मौजूदगी का एहसास दिलाने के लिए, एक विशेष प्रकार की आवाज निकालते है, उसके आस-पास के क्षेत्र में मौजूद मादा १० से १५ मिनिट में अगर उस ध्वनी का जवाब देती है, तो इसका अर्थ होता है, उन दोनों का मिलन हो सकता है. वो दोनों एक तरह का duet गाते है और एक दुसरे की आवाज का जवाब भी देते है.

55. उल्लू की कुछ प्रजातियाँ प्रजनन के बाद १ साल तक साथ रहते है. हालाकिं, कई प्रजातियाँ एसी भी है, जो पुरे जीवनभर साथ में रहती है.

56. ज्यादातर उल्लू अपना घोंसला बनाने के लिए कोई भी विशेष सामुग्री नहीं इकट्ठा करते, लेकिन ये खाए हुए शिकार की बची हुई फर और पंखो का इस्तेमाल अंडों के नीचे किसी गद्दी की तरह उन्हें गर्म रखने के लिए करते है और अगर घोंसला किसी खुली जगह पर है, तो वह आस-पास की घास और पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते है.

57. Owls की जनसंख्या अन्य शिकारी पक्षियों से अधिक होती है, क्योंकि ये मानव गतिविधि वाले क्षत्रों में भी बेहतर तरीके से जीवनभर रह सकते है, इनकी रात में बाहर निकलने वाली और दिन में छुपकर रहनेवाली आदते, इन्हें मानव शिकारी और अन्य परभक्षियों से सुरक्षित रखती है. (owl information in hindi)

58. आपने अभीतक सुना होगा की उल्लू अपने आहार में मेंढक, छिपकली, सांप, मछली, चूहे, खरगोश, और गिलहरी जैसे अन्य जीवों का शिकार करते है. हालाकिं, Flammulated Owl जैसी उल्लू की कुछ प्रजातियाँ कीड़े खाते है, इन्हें हम कीटभक्षी भी कह सकते है.

59. आम तौर पर उल्लुओं का जीवनकाल 25 वर्ष तक हो सकता है, उल्लू की बड़ी प्रजातियां छोटी प्रजातियों की तुलना में अधिक समय तक जीवित रहती है.

60. South और North America में रहनेवाले long-legged burrowing owl दिन के समय सक्रीय रहनेवाले उल्लओं में से एक है. इनकी विशेषता में यह जमीन पर बने बिल में रहते है, जिसे जंगली कुत्ते या खरगोश जैसे प्राणियों द्वारा बनाया हुआ होता है. इसकी तस्वीर आप निचे देख सकते है.

owl in hindi
long-legged burrowing owl

Owl meaning in hindi

Owl को हिंदी में उल्लू (ullu) कहते है. यह एक निशाचर पक्षी है, जो रात मे शिकार करता है. इसकी आँखों की बनावट कुछ इस तरह होती है, जिससे वह रात के घने अँधेरे में भी साफ-साफ देख सकता है. यह अपने शिकार को बिना कांटे पूरा निगलता है. इसके पैरे में चार उंगलिया होती है, जिससे वह अपने शिकार को मजबूती से पकडता है. उल्लू जंगल, पेड़ पहाड़, सुमुद्री द्वीप पर एवं शहरों में बनी इंसानों की इमारतों में भी रहता है. उल्लू का Scientific Name Strigiformes है.

100 Amazing facts about owl in hindi

61. एक उल्लू दुसरे, दुसरे उल्लू को भी खा सकते है, उदहारण के तौर पर Great horned owl प्रजाति barred owl का शिकार करती है और barred owl प्रजाति Western screech owl का शिकार करती है.

62. ग्रीस देश की लोकमान्यता व कुछ प्राचीन ग्रंथो के अनुसार Owl को ग्रीक देवी अथीना का साथीदार माना जाता है, अथीना बुद्धि, कौशल (हुनर) और युद्ध की देवी है, इसी कारण वश उल्लू को भी ज्ञान का प्रतीक कहा जाता है.

63. ग्रीस देश में एक और मान्यता प्रचलित थी की उल्लू को युद्ध में जाने वाली सेनाओं का रक्षक माना जाता था, पुरातन काल में जब ग्रीक के सैनिकों को लढते वक्त उल्लू नजर आता था, तब वे उसे आगे युद्ध में होनेवली जित का संकते मानते है.

64. मादा उल्लू जब अंडों को सेती है तब उसके पेट पर मौजूद पंख उड़ जाते है ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि वह अपनी त्वचा की गर्मी से अपने अंडो अच्छी तरह से गर्म रख सके.

65. मादा उल्लू अपने सभी अंडे एक दिन में नहीं देती, जो अंडा पहले दिया जाता है, वह उसे ही पहले सेती है और जिसे क्रम में अंडो को गर्माहट दी जाती है, वो उसी क्रम में फुटकर उसमे से बच्चे (Owlets) बाहर आते है. इसीलिये उल्लू के बच्चों के आकार व छोटे बड़े होते है और उनकी उम्र में एक या तो हप्तो का अंतर हो सकता है.

66. अंडो से बाहर आने के बाद उल्लू के बच्चे पहले दो हप्तो तक आंखे नहीं खोलते एवं अपने शरीर को गर्म रखने में भी सक्षम नहीं होते, वह पूरी तरह मादा उल्लू की गर्मी और सुरक्षा में रहते है. (owl in hindi)

67. उल्लू के बच्चों को owlets कहा जाता है.

68. उल्लू के बच्चे (owlets) बहुत जल्दी बढ़ते है और लगभग हप्ते भर में ही शिकार को पूरा खाकर, अपाच वस्तु जैसे की पंख व हड्ड्यों को उगलना शुरू कर देते है.

69. Owlets जब अपने शरीर के तापमान को बनाए रखने में सक्षम होते हैं, तब मादा उल्लू शिकार करने के लिए घोंसले से बाहर आती है.

70. बहुत बार ऐसा भी होता है की उल्लू के बच्चे (owlets) उड़ना सिखने से पहले ही घोंसले को छोडकर, वही आस पास की झड़ियों में छिपे जाते है और पेड़ या झड़ियों पर चढ़कर उड़ने की कोशिश करते रहते है.

71. Barn Owl और Great Horned Owl इन दो उल्लू प्रजातियों के विकास में काफी ज्यादा समय लगता है, ये लगभग ६ हप्ते से अधिक समय घोसलें में रहते है और ७ से ८ हप्तों की उम्र में ये अपनी पहली उडान भरते है.

72. दुसरे उल्लू प्रजति की तुलना में Short-eared owl के बच्चों का विकास काफी तेजी से होता है, जब वे दो सप्ताह के हो जाते है, तो घोसलें के बाहर उछल कूद शुरू कर देते है और लगभग चार से पांच सप्ताह के बाद अपनी पहली उड़ान भरने के लिए सक्षम हो जाते है.

73. उल्लू पक्षियों में मादा का आकार नर से अधिक बड़ा होता है लेकिन विज्ञान भी इसका असल कारण आजतक पता नहीं कर पाया है. इसके विषय में पक्षी वैज्ञानिकों ने कुछ सिद्धांत सामने रखे है,  जो कुछ इस प्रकार है.

A) नर उल्लू आकार में छोटे होते है, क्योंकि जब मादा अंडो को से रही होती है, तब नर अकेले ही शिकार करके खाना लाते और वे आकार में छोटे होने के कारण शिकार और परिवार की रक्षा स्फूर्ति से कर सकते है.

B) मादा उल्लू आकार में बडी होती है, क्योंकि प्रजनन काल में मादा को अनचाहे उल्लू नरों को अपने से दूर रखने के लिए ताकत की जरूरत होती है.

C) मादा उल्लू आकार में बडी होती है, क्योंकि जब वह अंडे सेती है, तब उसे घोसलें में ही रहकर लगभग सात हप्तों तक अंडो को गर्म रखना पड़ता है. साथ ही साथ इसे लंबे समय तक भूका भी रहना पड सकता है. इस विशेष काल में मादा उल्लू का बहुत ज्यादा वजन घट जाता है और इसे अधिक बल की भी आवश्कता पड सकती है.

D) मादा उल्लू आकार में बडी होती है, क्योंकि उसे शिकार के टुकड़े करके अपने बच्चो को खिलाना पड़ता है, जिमसे काफी ज्यादा ताकत खर्च होती है.

74. क्या आपको पता है?

  • आमतौर पर जो उल्लू, जो रेगिस्तान में रहते हैं, वे रेतीले-भूरे रंग के होते हैं.
  • जो उल्लू बर्फ वाले क्षेत्रों में रहते हैं, वे सफेद होते हैं.
  • जो उल्लू जंगली क्षेत्रों में रहते हैं, वे भूरे रंग के होते हैं.
  • और जो उल्लू चट्टानी क्षेत्रों में रहते हैं, वे भी भूरे रंग के होते हैं.

75. मादा उल्लू शारीरिक रूप से मजबूत बच्चों को पहले खिलाती है, कमजोरो को बाद में और अगर खाने की कमी होती है, तो कमजोर बच्चे भूक से मर भी सकता है.

76. एक owl का बच्चा जब घोंसला छोड़ता है, तब वह कुछ दिन उसी पेड़ के आस-पास रहता है नर और मादा उल्लू मिलकर उसका खयाल रखते है उसके लिए समय-समय पर शिकार भी लाते है.

Ullu ke bare mein jankari | Owl information in hindi

77. पुर्वी अफ्रीका रहनेवाले किकुयू जनजाति के लोंगों की मान्यता है की उल्लू मौत के अग्रदूत है, अगर किसी ने इसे देखा या आवाज भी सुनी, तो समझा जाता है की किसी करीबी इंसान की मृत्यु अटल है.

78. वैज्ञानिकों का मानना है की उल्लुओं का अध्ययन एक कठिन विषय है, क्योंकि ये शांत स्वभाव और एकांत प्रिय पक्षी है, जो दिन में बहुत ही कम दीखते है और रात के समय इनका दिखना दुर्लभ होता है. परिणामस्वरूप इनकी बहुत सी प्रजातियों की पारिस्थितिकी (ecosystem), व्यवहार और वर्गीकरण समझ ने में दिकाते आती है. owl in hindi

79. क्या आपको पता है? हैरी पॉटर मूवी में Hedwig नाम के उल्लू का किरदार ७ अलग-अलग उल्लुओं ने निभाया था. जिसमे किरदार की भूमिका निभाने वाले मुख्य उल्लू का नाम Gizmo था और बाकि ६ उसके डुप्लीकेट थे.

80. आमतौर पर उल्लू प्रजाति में मादा उल्लू यात्रा करती है और अपने लिए नया साथी ढूंडती रहती है, जबकि नर उल्लू एक चुनिद्दा क्षेत्र में ही रहते है.

81. उल्लू को भारत में दुर्भाग्य और बुरे समय से भी जोडा जाता है, पुराने समय में भारतीय लोगों का मानना था कि उल्लू मौत का दूत है, उसका दिखना या घर में प्रवेश करना बुरा समय शुरू होने की निशानी हो सकती है.

82. कुछ लोग की यह भी मान्यता है की उल्लू मृतकों की आत्माओं से जुडे होते है और यह पक्षी कब्र के पार से संदेश भी ले जाता है. (मतलब मरे हुए लोगो के पास)

83. उल्लू अंटार्कटिका जैसे कठिन व बर्फीले इलाके को छोड़कर अन्य सभी महाद्वीपों पर, अधिकांश समुद्री द्वीपों पर जीवन व्यतीत करते हैं.

84. निवास के लिए Owl घास के मैदान और पर्वतीय इलाके से लेकर घने जंगल और वर्षावन तक, लगभग हर स्थान का उपयोग करते हैं.

85. उल्लू ज्यादातर रहने के लिए पेड़ और चट्टानों में बनी प्राकृतिक गुफाओं या कठफोड़वा के घोसलों का इस्तेमाल करते है

86. Barn owls और Eurasian little owls ज्यादातर मानव निर्मत इमारतों में बने खाचें का इस्तेमाल करते है.

87. कुछ बड़े उल्लू बाज और कौवे घोंसलों का इस्तेमाल करते हैं.

88. जब शिकार की आबादी ज्यादा होती है, तब owl के युवा चूजे (owlets) अपने माता पिता से अलग होते है.

89. Owls अन्य शिकारी पक्षियों की तुलना में अधिक अंडे देते है.

90. क्या आप जानते है? उल्लू के अंडे किसी भी अन्य पक्षी की तुलना में अधिक गोल आकार के होते है.

91. owl की कुछ प्रजातियां अपने प्रजाति के अन्य उल्लुओं के साथ अपना घोंसला साझा भी करते है और समूह में भी रहते है.

92. जब नर उल्लू मादा उल्लू का ध्यान आकर्षित कर लेता है तब वह प्रदर्शन करना शुरू करता है, जिसमे वह पंखों को फुलाता है या मादा को खुश करने के लिए उपहार में खाना (शिकार) देता है.

93. उल्लू काफी समझदार पक्षी होते है, यदि किसी वर्ष उनके बसेरे के क्षेत्र में शिकार की कमी है, तो हो सकता है उल्लू वहा प्रजनन करना रद्द कर दे लेकिन अगर भोजन पर्याप्त मात्र उपलब्ध है, तो मादा ज्यादा अंडे भी दे सकती है. उल्लू की विभिन्न प्रजातियों में अंडो की संख्या अलग-अलग होती है. owl information in hindi

94. उल्लू अपने शिकार जैसे की छोटे स्तनपायी, सरीसृप, और अन्य पक्षियों को बिना काटे या टुकड़े किये पूरा निगल लेता है.

95. नर उल्लू प्रजनन काल में उसके क्षेत्र की रक्षा के लिए तैनात रहते है, इस दौरान वे आक्रामक होते है.

96. एक उल्लू के पास इतनी शारीरक शक्ति होती है की वह एक छोटे हिरन और लोमड़ी का भी शिकार कर सकता है.

97. क्षेत्र में अगर खाने की कमी है, तो नर उल्लू सबसे पहले खुद भोजन करता है, उसके बाद अपने परिवार को खिलता है.

98. उल्लू स्पष्ट रूप से केवल जानवरों का शिकार करना पसंद करते है, जिमसे चूहा इनका आम और पसंदीदा शिकार हैं. हालाँकि, उल्लू की छोटी प्रजातियाँ कीड़ों के आहार पर भी जीवित रहती है.

99. कजाकिस्तान में रहने वाली कई जनजातियाँ उल्लू की आत्मा की पूजा करते है.

100. owls समूह को parliament कहा जाता है.

Information about owl in Hindi | Owl information in hindi

101. उल्लू की गर्दन में 14 कशेरुक होते हैं, जबकि मनुष्य और अन्य पक्षियों की गर्दन में सात कशेरुक होते है. इन कशेरुक की मदत से ही उल्लू की गर्दन अधिक लचीली होती है.

102. उल्लू को Nocturnal Birds भी कहा जाता है, क्योंकि वह रात के अँधेरे में ही दिखाई देते है.

103. दुनियाभर में नियोट्रोपिक्स और उप-सहारा अफ्रीका में सबसे अधिक संख्या में उल्लू पाये जाते है, क्यों की दुनिया में आधे से ज्यादा उल्लू वही पाये जाते है.

104. अमेरिका में उल्लू को पालतू जानवरों के रूप में घर में रखना अवैध है, ऐसा करने पर कानुनी कारवाही हो सकती है.

105. Owl अपनी आंखों से कुछ सेंटीमीटर के दायरे में मौजूद शिकार एवं अन्य चीजों पर ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते हैं.

106. हम सभी ने देखा है की ज्यादातर शिकारी पक्षियों की आंखे सिर के किनारों पर स्थित होती है. लेकिन उल्लू ही एक ऐसा अनोखा पक्षी है, जिसकी आंखे सिर के आगे की ओर होती है, यह अपनी बडी-बडी आँखों से रात के अँधेरे में आसानी से शिकार कर सकता है, क्योंकि इसे दिन के अपक्ष रात में साफ और दूर तक दिखाई देता है.

107. उल्लूओं को चूहे खाना बहुत पसंद होता है, हर साल बहुत से उल्लुओं की मौत जहरीले चूहे खाने से भी होती है. यह जहर इंसान द्वरा चूहे को दिया हुआ होता है.

owl story in hindi: एक लोकप्रसिद्ध उल्लू कहानी के मुताबिक, एक दिन मंगोलिया के महान सम्राट चंगेज खान झड़ियों में अपने दुश्मनों से छुपे हुए थे, जब दुश्मन उन्हें वहाँ ढूढ़ने आये, तब उसी वक्त झाड़ी के ऊपर एक उल्लू आकार बैठ गया. जिससे उनके दुश्मनों को लगा की कोई इंसान वहा नही छिप सकता और वो सब वहा से चले गए.

Frequently asked questions about owl – उल्लू के बारे में बार बार पूछे जाने वाले प्रश्न

Q1) दुनिया की सबसे बड़ी उल्लू की प्रजाति कौन सी है?
A- “Blakiston’s fish owl” यह दुनिया की सबसे बडी उल्लू की प्रजाति है. इसकी ऊंचाई लगभग २ फीट औंर पंखो का फैलाव ६ फीट लंबा होता है. इसकी तस्वीर इसी लेख में दी गई है.

Q2) दुनिया की सबसे छोटी उल्लू की प्रजाति कौन सी है?
A- Elf owl” यह आकार में दुनिया का सबसे छोटा उल्लू होता है. इसकी ऊंचाई सिर्फ ५ से ६ इंचेस होती है. Elf owl दिखने में काफी सुंदर होता है. इसकी तस्वीर इसी लेख में दी गई है.

Q3) उल्लू की आयु कितनी होती है?
A- उल्लू का जीवनकाल 25 वर्ष हो सकता है. लेकिन उल्लु की कुछ बडी प्रजातियाँ इससे भी अधिक समय तक भी जीवित रहती है.

Q4) उल्लू क्या खाता है?
A- आम तौर पर उल्लू जानवरों की शिकार करके अपना पेट भरते है , इनके आहार में चूहा, मेंढक, छिपकली, सांप, मछली, चूहे, खरगोश, और गिलहरी जैसे अन्य जीव भी शामिल है. लेकिन यह बात भी सच है की उल्लू की कुछ छोटी प्रजातीय कीड़ों के आहार पर भी जिंदा रहती है.

Q5) पक्षी उल्लू से क्यों डरते हैं?
A- उल्लू एक बेहत घातक शिकारी पक्षी है. यह अपने से बडे आकार का भी शिकार करने में सक्षम होता है. इसीलिए अन्य पक्षी उल्लू डरते है. इसी वजह से कई घरों के ऊपर कृत्रिम उल्लू का छोटा पुतला रखते है. जिसके डर से अन्य पक्षी घर से दूर रहते है.

Q6) क्या उल्लू पालना चाहिए?
A- भारतीय वन्य जीव अधिनियम, 1972 की अनुसूची के तहत उल्लू संरक्षित है. इसीलिए भारत में उल्लू पक्षी को कैद नहीं कर सकते. लेकिन आप अपने घर के आस पास खेत या फार्म हाउस के नजदीक इनके लिए छोटासा घर बना सकते है.इससे आपके फार्म हाउस और घर के आस पास की चूहों की संख्या नियंत्रित रहती है.

Q7) उल्लू से क्या फायदा होता है?
A- उल्लू के आस पास होने से चूहों की आबादी नियंत्रण मे रहती है. इससे किसानों की फसल एवं आम लोगों के घरों को चूहों से निजात मिलता है.

Q8) उल्लू कितनी प्रजातियां होती हैं?
A- पक्षी विज्ञान ने दुनियाभर में आज तक २५० उल्लू की प्रजातियां खोज कर निकली है.

Q9) उल्लू से किस हिंदू देवता का संबंध है?
A- उल्लू पक्षी हिंदू देवताओं में धन की देवी माता लक्ष्मी से संबधित है. उल्लू को लक्ष्मी माता का वाहन माना जाता है.

हमारी पोस्ट owl in hindi पढने के लिए धन्यवाद, उल्लू की यह जानकारी आपको पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे और इसके ऊपर अपने मूल्यवान कमेंट जरुर दे और भी बेहतीन पोस्ट की लिंक निचे दे रहे है जरुर पढ़े.

और महत्वपूर्ण लेख

सबसे अधिक लोकप्रिय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *