एक नजर किरपा की कर दो लाडली श्री राधे लिरिक्स हिंदी EK NAZAR KRIPA KI KAR DO LADLI SHRI RADHE LYRICS HINDI श्री राधा जी के नए भजन

एक नजर किरपा की कर दो लाडली श्री राधे लिरिक्स हिंदी Ek Nazar Kripa Ki Kar Do Ladli Shri Radhe Lyrics Hindi श्री राधा जी के नए भजन

एक नजर किरपा की करदो
लाडली श्री राधे
एक नजर किरपा की करदो
स्वामिनी श्री राधे
एक नजर किरपा की करदो
स्वामिनी श्री राधे
श्री राधे ……श्री राधे
श्री राधे ……श्री राधे
दासी की झोली भर दो स्वामिनी श्री राधे
लाडली श्री राधे…..लाडली श्री राधे
लाडली श्री राधे
भक्तो की झोली भर दो लाड़ली श्री राधे
दासी की झोली भर दो स्वामिनी श्री राधे
लाडली श्री राधे
दासी की झोली भर दो स्वामिनी श्री राधे
लाडली श्री राधे
में तो राधा राधा सदा ही रटू
में तो राधा राधा सदा ही रटू
में तो राधा राधा सदा ही रटू
कभी द्वार से लाड़ली के ना हटू
कभी द्वार से लाड़ली के ना हटू
मेरे शीश कमल पग धर दो
लाड़ली श्री राधे
एक नजर किरपा की करदो

स्वामिनी श्री राधे

मेरे आस ना टूट ना पाए कभी
ए श्यामा
मेरे आस ना टूट ना पाए कभी
मेरे आस ना टूट ना पाए कभी
इस तन से प्राण जाए तभी
मुझे निज दर्शन का वर दो
स्वामिनी श्री राधे
एक नजर किरपा की करदो
स्वामिनी श्री राधे
श्री राधे …..श्री राधे
श्री राधे …..श्री राधे

Ek Nazar Kripa Ki Kar Do Ladli Shri Radhe Lyrics Hindi video

राधा कृष्ण की प्रथम भेट और प्रेम जीवन

दोस्तों स्वामिनी राधा के जन्म दिन को राधा अष्टमी के रूप में और कृष्ण भगवान के जन्म दिन को कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में बड़े धूम धाम से मनाया जाता है.

अब मै आपको राधा कृष्ण के पहिल भेट की कहानी बताता हूँ. राधा रानी का जन्म भगवान कृष्ण से आठ महीने पहले हुआ था.

लेकिन जन्म के बाद राधा ने अपनी आंखे नहीं खोली थी. और अपनी पुत्री राधा ने आंखे नहीं खोली है. यह जानकर पिता वृषभानु जी और माता कीर्ति देवी बहुत दुखी थे.

स्वामिनी राधा के आंखे ना खोलने का कारण यह था. की वह अपने प्रिय वासुदेव कृष्णा को सबसे पहले देखना चाहती थी.

और वह समय तब आया. जब यशोदा मैया अपने लाडले कान्हा को गोद में लिए. वृषभानु जी के घर आयी. घर आने के बाद यशोदा मैया कन्हा को गोद में लिए ही. राधा के पास जाती है.

अपने प्रिय कृष्ण के आमने सामने आते ही राधा पहली बार अपनी आंखे खोलती है.और अपने प्राणप्रिय का दर्शन करती है. कृष्ण से नजर मिलते ही राधा एक टक उन्हें देखती ही रहती है.

और अपने पहले प्यार राधा को देखते ही बालक कृष्ण भी आनंदित होते है. यही थी भगवान कृष्ण और स्वामिनी राधा के पहली भेट की कहानी. बोलो दोस्तों श्री राधे श्री राधे श्री राधे श्री राधे श्री राधे श्री राधे

राधा को भगवान श्री कृष्ण की प्रेमिका और सबसे प्रिय संगिनी के रूप में याद किया जाता है.

भगवान वासुदेव श्री कृष्ण को राधा इतनी प्रिय है की उनके नाम से पहले राधा का नाम जोडा जाता है.

और राधे कृष्ण राधे कृष्ण राधे कृष्ण इस नाम का जाप किया जाता है. मान्यता और भक्तो के अनुभव अनुसार.

जो मनुष्य राधे कृष्ण राधे कृष्ण इस नाम का मन से जाप करेगा. वह इस संसारे के सभी सुखो को प्राप्त करेगा.

और अंत में भगवान कृष्ण के हातो मोक्ष की प्राप्ति करेगा. राधा और कृष्ण की प्रेम कहानिया तो आज भी संसार में चर्चित है.

उन्हें दुनिया का सबसे सुन्दर जोडा भी कहा जाता है. स्वामिनी राधा के परिवार के विषय में बात करे तो.

वह प्रतिष्ठित यादव राजा वृषभानु गोप की पुत्री थी एवं लक्ष्मी अवतार थीं. राधा रानी के तेज और सुन्दरता का प्रभाव इतना है.

की उनके ऊपर कई काव्य रचनाये की गई है. कृष्ण की हर एक रास लीला. उन्हीं की शक्ति और रूप का दर्शन करती है.

वैष्णव सम्प्रदाय की मान्यता अनुसार स्वामिनी राधा को भगवान श्री कृष्ण की शक्ति का स्वरूपा भी माना जाता है.

जो वासुदेव की लीलाओं में दर्शन देती है. राधा राणी तन और मन से कृष्ण को ही अपना सबकुछ मानती थी.

और भगवान कृष्ण भी राधा राणी और अपनी बांसुरी को सबसे अधिक प्रेम करते थे. सच तो यही है की राधा ही कृष्ण हैं और कृष्ण ही राधा हैं.

वह दोनों एक दुसरे में बसे है. राधा कृष्ण की प्रेम कहानिया आज भी अरबों प्रेमी जोड़ो को उत्साहित करती है.

उन्हें सच्ची प्रेरणा देती है. राधा राणी अपने पूरे जीवनकाल में सिर्फ और सिर्फ कृष्ण को ही समर्पित थी.

दोस्तों Ek Nazar Kripa Ki Kar Do Ladli Shri Radhe Lyrics Hindi और स्वामिनी राधा की कहानी पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद. एक नजर किरपा की कर दो लाडली श्री राधे लिरिक्स हिंदी आपके प्रिय जानो के साथ जरुर शेयर करे और यह लेख आपको कैसा लगा यह हमे कमेंट करके जरुर बताये.

इसी लेख से संबंधित और लेख पढ़े

कृष्णप्रिया राधा के १००० नाम

स्वामिनी राधा के ३२ कल्याणकारी नाम

कृष्ण भगवान के 1000 नाम

काली कमली वाला मेरा यार है लिरिक्स

 

सबसे अधिक लोकप्रिय

Leave a Reply

Your email address will not be published.